Musings Of An Idle Philosopher

Strange indeed are the ways of the world!

f61e7bdbafc3ab6780c5588881f186e2

Ennobling thoughts are archived  away (to a pen-drive), while

enfeebling ones are retained by one’s mind

(for ready access and constant regurgitation).

End

 

 

Source: Pinterest Original in Hindi is not translated word-by-word.

 

 

Advertisements

A Love Story

c6e0dff9d379e2f3def22fc372507901

” A piece of glass shatters, sighing

it was the promise of a stone to be its protector.”

 

End

 

 

Source: Pinterest

 

 

Autumn

(English translation of these beautiful lines follows)

एक वृद्धाश्रम के गेटपर लिखा हुआ एक अप्रतिम सुविचार :

land-1213474_960_720 pixabay com a

एक वृद्धाश्रम के गेटपर लिखा हुआ एक अप्रतिम सुविचार :

“नीचे गिरे सूखे पत्तों पर

अदब से चलना ज़रा …

कभी कड़ी धूप में तुमने

इनसे ही पनाह माँगी थी. ”

 

A ‘near’ translation of a sign outside a senior citizens’ home:

“Walk gently over the fallen leaves,

for you had sought their shade once up on a hot summer.”

End

 

 

Source: via Gopalaswamy, image from pixabay.com

Chutkule

आज की तारीख़ में कोई अगर सुखी है तो वह है शशिकला का पति..
करोड़ों रुपयों के कारोबार, सैकड़ों कंपनी, सरकार में ऊँचे रसूख़ और तो और पत्नी भी ज़ेल में!

आज सुबह से ही मेरे मित्र लिख रहे हैं…
” जो अमृत पीते हैं उन्हें देव कहते हैं और जो विष पीते हैं उन्हें महादेव कहते हैं!”
अरे भाई… जो रोजाना दोनों ही चीज़ थोड़ा थोड़ा करके पीते हैं उन्हें भी तो पतिदेव कहते हैं!

किसी कागज पर वजन रखो तो वो अपनी जगह से नहीं हिलता।
~ न्यूटन
पर सरकारी कागज पर वजन रखो तो वो तेजी से हिलता है।
~ न्यूटन का चचेरा भाई टनाटन!

Husband and wife at a Mandir.
He: ‘Kya manga tumne?’
She: ‘Ki Aap aur mae 7 janmo tak saath ho. Aur aapne kya manga?’
He: ‘Ye mera saatva janam ho.’

End

 

 

Source: nidokidos.com and santbanta.com.

Some Chutkule’s

 

What wives can see through is no joke…this one is!

पत्नी:मेरी ये समझ में नहीं आता की कई साल से मैं करवा चौथ का व्रत नहीं रख रही
फिर भी तुम पूर्ण स्वस्थ कैसे चल रहे हो।

पति: मैं बहुत नियम संयम से रहता हूँ इसलिए।

पत्नी: मुझे बेवक़ूफ़ समझ रखा है क्या ?
सच सच बताओ वह कौन है
जो तुम्हारे लिए करवा चौथ का व्रत रखती है

 

Have you noticed…

कहावत: हाथ की “पांचों” उँगलियॉ एक समान नहीं होती है!

हकीकत: पर “खाने” के वक्त सभी उँगलियॉ एक हो जाती है! !

हिंदुस्तान के समस्त “राजनैतिक दलों” को समर्पित

 

Sometimes even a PJ can be funny with Santa and Banta around:

संता अपने कुत्ते को पकड़ कर…
उस की पुंछ को पाइप में डाल रहा था…

बंता: “ओए…कुत्ते की पूंछ कभी सीधी नहीं होती…”
संता: “मालुम है मुझे…मेरे को तो पाइप टेढ़ा करना है…!!”

Did you see that coming? Santa must get his due.

 

A joke, one would think, is a last place to find poetic imagery – you’ve reached one!

लड़का: तुम्हारा दुप्पटा उठा लो जमीन से घिसा जा रहा है!
लड़की: “दुप्पटा भी अपना फ़र्ज़ निभा रहा है, कोई चूम न ले मेरी कदमो की मिटटी को इसलिए ये निशान मिटा रहा है!!” (Isn’t that worth a ‘wah, wah. kya keh diya aapne!’)

लड़का: अपसरा की औलाद, आगे गोबर है  (Imagine what a couple they would make!)

 

End

 

From: dr puneet and santabanta.com

Who’s Most Wily Among Us? (In Hindi)

Hands timeanddate com

एक अंग्रेज ट्रेन से सफ़र कर रहा था …..
सामने एक बच्चा बैठा था…
अंग्रेज ने बच्चे से पूछा यहाँ सबसे ज्यादा खतरनाक कौन सी समाज हैं ???
बच्चा:” महाराष्ट्रीयन,पंजाबी, गुजराती, हरयाणवी,और सबसे ज्यादा तो यूपीवाले
[कुछ देर पश्चात]
अंग्रेज : ‘मैं कैसे जान सकता हूँ कि कौन सा व्यक्ति कितना खतरनाक है ?’
बच्चा: ‘बैठा रह शान्ति से … अभी दस घंटे के सफ़र में सबसे मिलवा दूंगा’….

कुछ ही देर बाद हरियाणा का एक चौधरी मूंछों पे ताव देता हुआ बैठ गया ।
बच्चा: ‘भाई ये हरियाणवी है …’
अंग्रेज : ‘इससे बात कैसे करूँ?’
बच्चा: “चुपचाप बैठा रह और मूंछों पर ताव देता रह.. ये खुद बात करेगा तेरे से’…
अंग्रेज ने अपनी सफाचट मूछों पर ताव दिया..
चौधरी उठा और अंग्रेज के दो कंटाप जड़े – ‘बिन खेती के ही हल चला रिया है तू ..?’


थोड़ी देर बाद एक मराठी आ के बैठ गया …
बच्चा : ‘भाई ये मराठी है …’
अंग्रेज : ‘इससे बात कैसे करूँ ?’
बच्चा : ‘इससे बोल कि बाम्बे बहुत बढ़िया ..’
अंग्रेज ने मराठी से यही बोल दिया..
मराठी उठा और थप्पड़ लगाया – “साले बाम्बे नहीं मुम्बई … समझा क्या”


थोड़ी देर बाद एक गुजराती सामने आकर बैठ गया।
बच्चा : ‘भाई ये गुजराती है …’
अंग्रेज गाल सहलाते हुए : ‘इससे कैसे बात करूँ ?’
बच्चा : ‘इससे बोल सोनिया गांधी जिंदाबाद …’
अंग्रेज ने गुजराती से यही कह दिया
गुजराती ने कसकर घूंसा मारा – ‘नरेन्द्र मोदी जिंदाबाद…एक ही विकल्प- मोदी’..


थोड़ी देर बाद एक सरदार जी आकर बैठ गए ।
बच्चा : ‘देख भाई ये पंजाबी है …’
अंग्रेज ने कराहते हुए पूछा – ‘इससे कैसे बात करूँ ..’
बच्चा : ‘बात न कर बस पूछ ले कि 12 बज गए क्या ?’
अंग्रेज ने ठीक यही किया …
अंग्रेज : ‘ओ सरदार जी 12 बज गए क्या ?
सरदार जी ने आव देखा न ताव अंग्रेज को उठा के नीचे पटक दिया…
सरदार : साले खोतया नू … तेरे को मैं मनमोहन सिंह लगता हूँ जो चुप रहूँगा’….


पहले से परेशान अंग्रेज बिलबिला गया .
खीझ के बच्चे से बोला : इन सबसे मिलवा दिया अब यूपीवालो से भी मिलवा दो’

बच्चा बोला – “इतनी देर से तेरे को पिटवा कौन रहा । है….!” .

End

 

 

Source: Said in jest without offence to anyone, from drpuneetagrawal.blogspot.in and image from timeanddate.com